एक बे एक बरात जीमण लाग रही थी।

एक बे एक बरात जीमण लाग रही थी।
सबकी प्लेट में गुलाब जामुन , रसगुल्ले, बर्फी धरी थी

एक ताऊ नुए बैठा था। कोई ना दे था उसने

घनी बार हो ली तो ताऊ ऊपर आसमान कानि मुँह करके बोलै : – राम करे या छात गिर जा अर सारे निचे दब्ब के मर जा  ।

धोरे बैठा एक बोला :- हाँ ताऊ जे या छत पड़ गयी तो तू भी तो मरेगा। तू कुकर बच जायेगा।

ताऊ बोला :- इब्बी भी तो बच रया हु।

Leave a Reply


WhatsApp chat