Haryanvi corona jokes and chutkule

एक बार एक हरयाणवी को क्वारंटाइन सेंटर में ले गए।
रोज़ उसके घर ते खाने का टिफ़िन आया करता।

यु देख के दुसरे लोग बोले भाई तेरी घर वाली तो कतई सरीफ और संस्कारी औरत है, जो रोज़ तेरे लिए टिफ़िन भेजती है।

हरिणावी बोल्या – भाई सरीफ और संस्कारी तो मन्ने ही बेरा ह। एक दिन नु कह दिया था की रोटियां में स्वाद नहीं आ रया।
बस फेर के था उसने एक फ़ोन घुमाया और में यहाँ पहुँच गया। इब रोज़ घर ते टिफ़िन आवे है और उसमे एक चिठ्ठी भी आवे है।

जिसमे लिखा होवे की “आया स्वाद “

Leave a Reply


WhatsApp chat