हरयाणा के डॉक्टर – Desi Haryanavi

कोई भी हरियाणा से बाहर का डाक्टर हरियाणा
में आकर डाक्टर की दुकान नहीं खोल सकता

क्यों? 😉😉

क्योंकि हरियाणा के मरीज की बिमारी हरियाणा के डाक्टर के अलावा कोई समझ ही नहीं सकता

जैसे :-

“भीतरले म धूमा सा उठै है”
“आख्या म त झल सी लकडै हैं”
“गात में उचाटी सी लाग री है।”
“जी कुलमुलावे है।”
“पेट मे धुकड़ धुकड़ हो री है।”
“हाथ झूठे पड़ रे स”
“हरकत हो री स”
“कालजा लकड लकड बाहर आवे”
“काना मै चिड़िया सी बोले सै”
“कड़ मै तरेड़ सी पाटै सै”
“घंघेला से उठ रह्या सिर म्ह”
“हाथ पाया म्ह जान सी नी रही”
“सारी रैत उल्टा-सीधा दिखे गया”

ऐसी ऐसी बीमारी सुनकर अच्छे अच्छे MBBS को अपनी डिग्री पर शक हो जाता है कि साला कहीं ये Chapter छूट तो नहीं गया था।।।

😀😀😀

Leave a Reply

Loading...

WhatsApp chat