मन्नै क्यू दुखी करो हो – Haryanvi Jokes

Mast Haryanvi Jokes and Chutkule


दरवाजे पर खट- खट की आवाज़ सुनके
रलदु : कुणसा है ??

जवाब आया पुलिस है आपसे बात करनी

रलदु : कितने जने हों ?

जवाब आया तीन

रलदु :
.
.
.

“फेर आपस मे करल्यो बात मन्नै क्यू दुखी करो हो ।”


Darvaje par thak-thak ki awaaj sunkar ….
Raldu bola – konsa hai ??
Bahar te jawab aaya police wale hain. tere te baat karni hai..

Raldu bola – kitne jane ho ??

Jawab aaya teen jane haan.

Raldu Bola –

.

.
.
.
fer aapas me kar lyo ne baat. manne kyu dukhi karo ho.


 

ek बार ek अंग्रेज Rohtak पहुच गया आर उड़े जा के Rasta भूल गया.

भटकदा होया ओ Bus Stand पास पे जा पोंचया उड़े Ramphal अर Satbir दो ताऊ खड़े थे ओ उन पे जा के राह बूजन लाग्या.

पहलया उसने अंग्रेजी में पुछा उन दोनुआ के कोनी समझ में आई, फेर German में बुझी उनके वा भी ना आई , नु कर के उसने कई देसा की भाषा में बुझया पर उन दोनुआ के कोए भी बुत में कोनी बड़ी अर हार के अंग्रेज उड़े ते चला गया.

उसके जाए पाछे Ramphal Satbir ने बोल्या – अक भाई आपा ने भी 1 – 2 विदेशी भाषा सीख लेनी चाहिए के बेरा कद काम आजा

Satbir पडदे ए बोल्या – कीमे फायदा कोनी इस अंग्रेज ने कितनी आवे थी इसके काम आई?


 

Leave a Reply

Loading...

WhatsApp chat