haryanvi jokes

Haryanvi Shayari

Latest Haryanvi Shayari

funny haryanvi shayari

 

बैरन नू बोली र बैरी कितनी एक #सेटिंग लेरया स
मखा सेटिंग का त बेरा नी पर #यार इतने स कै
तेरे ताऊ काका आलिया न भी ब्याह ल्यांगे।

 

र #लाडलो टेंशन तो जब होइ
जब पड़ोसी की #बहु बोली
मै तो तेरी #बहु होनी थी।

 

इतने अमीर तो कोन्या क सब कीमे खरीद ल्या
पर इतने गरीब भी कोन्या क खुद बिक जावा

 

सोचान था ऐसीदोस्ती होगी
साथ मेरे आपजैसी हस्तीहोगी
जन्नतकी गलियों के ख्वाबक्यों देखू

सारे दोस्तसाथ होंगे तो नरकमें भी मस्ती‍‍‍होगी

 

 

अध्यापक :- धुप मैं निकला ना करो रूप की
रानी,
गोरा रंग काला ना पड़ जाय |
इसको हरयाणवी मैं translate करो।
बच्चे:- तू घाम म काली हो ज्यागी
चाल्या कर डाठा मार के…???

 

 

आज तो बैरण_न_दिल कती तोड़ दिया….
नु बोली तु मेरी के इच्छा पुरी करेगा
कदे स्कूल की_कॉपी तो पुरी
करी नी तनै

 

बैरण नै जमा  लठ गाढ दिया
न्यू बोली -
तू मेरा चांद मै तेरी चांदणी
आपणा प्यार ईसा
जणू लख्मीचंद की रागणी

 

मैं बोल्या मेरा दिल लेले
बैरण न्युं बोली दिल का मैं के करूंगी देणी है
तो एक ट्राली तूङी देदे

Join WhatsApp Group

Join Our WhatsApp Group
Join Our WhatsApp Group
Subscribe for latest Jokes

RSS Funny Haryanvi Jokes

  • तेने अपनी बनाना चाहू सु..
    Latest haryanvi jokes and haryanvi chutkule एक गाम के छोरे ने कॉलेज में एक छोरी आच्छी लागन लाग गयी… आर ड्याकी उस तें अपने दिल की बात क्यूकर बतावन लाग्या ……. भूल क्यूकर जाऊं तेंने तेने अपनी बनाना चाहू सु अपनी बना के तेंने, “गोबर पथवाना” चाहू सु! गोबर पाथती तू गजब लागेगी, तेरी लुगडी […]
  • हरयाणवी टैक्सी ड्राइवर – Haryanvi Taxi Driver
    Latest haryanvi jokes and haryanvi chutkule हरयाणवी टैक्सी ड्राइवर -...लड़की , हरयाणवी टैक्सी वाले से -" स्टेशन तक के कितने पैसे लोगे ?"-टैक्सी वाला - "मेडम 100 रुपए ",-लड़की - ( हैरान-सा मुँह बनाते हुए ) "-स्टेशन के 100 रुपए ?"-टैक्सी वाला - "हाँ मेडम, स्टेशन पूरा दस किलोमीटर है यहाँ ते "..-लड़की - ( […]
  • मन्नै क्यू दुखी करो हो – Haryanvi Jokes
    Latest haryanvi jokes and haryanvi chutkule Mast Haryanvi Jokes and Chutkule दरवाजे पर खट- खट की आवाज़ सुनके रलदु : कुणसा है ?? जवाब आया पुलिस है आपसे बात करनी रलदु : कितने जने हों ? जवाब आया तीन रलदु : . . . “फेर आपस मे करल्यो बात मन्नै क्यू दुखी करो हो ।” […]
Loading...